क्या कहते हैं आपके सितारे

।। ? ।।
    ? *सुप्रभातम्* ?
 ««« *आज का पंचांग* »»»
कलियुगाब्द……………..5119
विक्रम संवत्……………2074
शक संवत्………………1939
मास……………………अश्विन
पक्ष……………………....शुक्ल
तिथी……………………पूर्णिमा
रात्रि 12.10 पर्यंत पश्चात प्रतिपदा
रवि…………………दक्षिणायन
सूर्योदय……….06.19.01 पर
सूर्यास्त……….06.10.11 पर
तिथि स्वामी………..विश्वदेव
नित्यदेवी……………कामेश्वरी
नक्षत्र……………उत्तराभाद्रपद
रात्रि 20.50 पर्यंत पश्चात रेवती
योग………………………..वृद्धि
प्रातः 07.09 पर्यंत पश्चात ध्रुव
करण…………………….विष्टि
दोप 01.03 पर्यंत पश्चात बव
ऋतु……………………….शरद
दिन…………………….गुरुवार
?? *आंग्ल मतानुसार* :-
05 अक्तूबर सन 2017 ईस्वी ।
?? *राहुकाल* :-
दोपहर 01.42 से 03.10 तक ।
? *दिशाशूल* :-
दक्षिणदिशा –
यदि आवश्यक हो तो दही या जीरा का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें।
☸ शुभ अंक……………….3
? शुभ रंग…………….पीला
✡ *चौघडिया* :-
प्रात: 06.23 से 07.50 तक शुभ
प्रात: 10.46 से 12.14 तक चंचल
दोप. 12.14 से 01.42 तक लाभ
दोप. 01.42 से 03.10 तक अमृत
सायं 04.38 से 06.06 तक शुभ
सायं 06.06 से 07.38 तक अमृत
रात्रि 07.38 से 09.10 तक चंचल |
? *आज का मंत्र* :-
।। ॐ विघ्ननाशिने नमः ।।
? *सुभाषितम्* :-
*अष्टावक्र गीता – अष्टादश अध्याय :-*
विषयद्वीपिनो वीक्ष्य
चकिताः शरणार्थिनः।
विशन्ति झटिति क्रोडं
निरोधैकाग्रसिद्धये॥१८- ४५॥
अर्थात :-
अज्ञानी पुरुष विषयरूपी मतवाले हाथियों को देखकर भयभीत हो जाते हैं और शरण के लिए तुरंत निरोध और एकाग्रता की सिद्धि के लिए झटपट चित्त की गुफा में घुस जाते है॥४५॥
? *आरोग्यं* :-
*मोतियाबिंद के घरेलू नुस्खे :-*
1. एलो-वेरा को आँखों के ऊपर रखने से आराम होता है ।
2. प्रतिदिन २-३ कली लहसुन की खाएं, इससे मोतियाबिंद बढ़ना बंद हो जायेगा।
3. रोज़ पालक का रस पिए।
4. ग्रीन टी का सेवन करें।
5. रोज़ सुबह २-३ चम्मच गेहूं के ग्वारे का रस पीने का देसी इलाज आजमाएं, इससे मोतियाबिंद कम हो जायेगा।
⚜ *आज का राशिफल* :-
? *राशि फलादेश मेष* :-
व्ययवृद्धि से तनाव रहेगा। दूसरों से अपेक्षा न करें। विवाद से क्लेश संभव है। कुसंगति से बचें। हानि होगी। आजीविका के क्षेत्र में उन्नति होगी।
? *राशि फलादेश वृष* :-
बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। लाभ के अवसर मिलेंगे। भागदौड़ रहेगी। सही समय पर फैसला लेंगे।
? *राशि फलादेश मिथुन* :-
पुराना रोग उभर सकता है। नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। प्रतिष्ठा बढ़ेगी। लाभ होगा। अपने कार्यों की सफलता से प्रसन्न रहेंगे।
? *राशि फलादेश कर्क* :-
पूजा-पाठ में मन लगेगा। कोर्ट व कचहरी के कार्य बनेंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। परिवार में तनाव संभव है। लाभ होगा।
? *राशि फलादेश सिंह* :-
चोट, चोरी व विवाद आदि से हानि संभव है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। अपेक्षाकृत कार्य टलेंगे। चिंता रहेगी।
??‍? *राशि फलादेश कन्या* :-
विवाद न करें। राजकीय बाधा संभव है। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। बैंकिंग संस्थानों से कर्ज, आसान वित्त आदि प्राप्त होंगे।
⚖ *राशि फलादेश तुला* :-
भूमि व भवन संबंधी बाधा दूर होगी। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। लाभदायी योजनाएं हाथ में आएंगी। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं।
? *राशि फलादेश वृश्चिक* :-
किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का मौका मिल सकता है। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। लाभ होगा। वाहन चलाते समय सावधानी रखें।
? *राशि फलादेश धनु* :-
भागदौड़ अधिक होगी। शोक समाचार मिल सकता है। विवाद से क्लेश होगा। पुराना रोग उभर सकता है। व्यर्थ के विवादों से दूर रहें।
? *राशि फलादेश मकर* :-
थोड़े प्रयास से अधिक लाभ होगा। कार्य की प्रशंसा होगी। रोग व चोट से बचें। कुसंगति से हानि होगी, बचें। आवेश पर नियंत्रण रखें।
? *राशि फलादेश कुंभ* :-
शुभ समाचार मिलेंगे। सम्मान बना रहेगा। शत्रु परास्त होंगे। धनार्जन होगा। लेन-देन में सावधानी रखें। व्यापारिक गोपनीयता बनाए रखें।
? *राशि फलादेश मीन* :-
अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। जीवनसाथी का स्वास्थ्‍य कमजोर रहेगा। धनलाभ के साधन बनते रहेंगे।
☯ आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।
।। *शुभम भवतु* ।।

Leave a Reply